ऐसे बनाएं नर्म इडली या उत्तपम तैयार करने के लिए चावल, उडद दाल बैटर रेसिपी | Chaval Urad Dal batter recipe in Hindi

इडली बैटर रेसिपी चित्र 1

नर्म इडली या उत्तपम तैयार करने के लिए चावल, उडद दाल से ऐसे बनाएं इडली बैटर। टेस्टेड रेसिपी स्टेप बाई स्टेप ८ चित्र श्रृंखला सहित।

दक्षिण भारतीय भोजन व्यंजनों में इडली, उत्तपम, डोसा इत्यादि अधिक प्रचलित व्यंजन है। हर कोई इन व्यंजनों को घर में तैयार करना चाहता हैं। इस कारण आजकल बाजार में इडली डोसा तैयार करने के लिए कच्चा घोल उपलब्ध है। पर अब घोल के लिए बाजार जाने की ज़रूरत नहीं, बल्कि अब खुद ही घर में बनाएं इडली डोसा का यह घोल। यहाँ रेसिपी को देख कर यह तैयार करना बहुत सरल है।

उकडा चावल (परबोइल राइस), उडद दाल, मोटा चिवड़ा को भिगा देना है। फिर मुलायम पीस कर फर्मेंटेशन के लिए रख देना है। फिर पसंद अनुसार बाजार जैसा इडली, डोसा, उत्तपम बनाएं। 

यहाँ इस रेसिपी के माध्यम से इडली घोल तैयार करने की बिल्कुल सरल विधि बताई जा रही है। रेसिपी को अनुसरण कर के घर में ही आसानी से बनाया जा सकता है बिल्कुल बाजार जैसा बैटर।

निम्न में दिए हुए रेसिपी को अनुसरण करें:

व्यंजन विधि/ Cuisineदक्षिण भारतीय / भारतीय
भोजन चुनावशाकाहारी
व्यंजन  नाम/ व्यंजन   इडली बैटर  
सात्विक आहार     हाँ      
जैन भोजन  हाँ
सामग्री तैयार करने का समय:10Mins  
पकाने का समय/ कुकिंग टाइम 16 hrs 

सामग्री | Ingredients

सामग्रीमात्रा      
उकडा चावल (पार बॉयल्ड राइस)4 कप / 600 gm
उडद दाल  1 कप / 150 gm
मेथी के बीज    1 tablespoon
मोटा पोहा / चिवड़ा6 tablespoon
नमक   स्वादानुसार
पानी      400 ml / आवश्यकता अनुसार

विधि (प्रिपरेशन मेथड) 

Naram Idli batter recipe Recipe Step 1
  • चावल को छलनि में रख कर 3 से 4 बार पानी बदलकर धो लें।
  • एक गहरा बर्तन में चावल को रखें। दो गुना स्तर पानी डाल दें।
  • पोहा / चिवड़ा को धो लें।
  • चावल के संग बर्तन में रख दें।
  • रातभर या 6 घंटें भीगने दें।
  • मिक्सी में मुलायम और ज़रा दरदरा कर पीस लें। अधिक पानी मिलाकर पतला न करें।
  • अलग बर्तन में रखें।
  • उड़द दाल को धो लें। पानी में 4 घंटें तक भीगने दें। मेथी बीज को मिला दें।
Naram Idli batter recipe Recipe Step 2
  • उड़द दाल और मेथी बीज को मिक्सी में मुलायम कर पीस लें। अधिक पानी न मिलाएं।
  • अब चावल के घोल और पिसी हुई दाल को एक साथ मिला  दें।
  • एक रात भर या 12 घंटे तक फरमेंट होने दें। घोल के ऊपर की परत पर बुलबुले आने पर समझना चाहिए यह उपयोग करने के लिए तैयार है।

टिप्स:

  • चावल के गुणवत्ता के अनुसार घोल का परिणाम होगा।
  • चावल, उड़द दाल पीसते वक़्त अधिक पानी न डालें। फर्मेंटेशन के बाद घोल अपने आप थोड़ा पतला हो जाता है।
  • घोल को इडली, डोसा, उत्तपम तैयार करते वक़्त आवश्यकता अनुसार पतला किया जा सकता है।
  • घर के मिक्सी में चावल को मुलायम पीसने के लिए चावल को 6 घंटे तक पानी में भीगने दें। यह परीक्षण हमने कई बार किया है।
  • यह घोल फ्रिज में रख कर एक हफ्ते तक उपयोग किया जा सकता है। ध्यान रहें अधिक दिन रखने पर घोल में खट्टापन बढ़ जाता है।
  • घोल में किण्वन (fermentation) अच्छा होने पर इडली, उत्तपम के परिणाम अधिक मुलायम, नरम व छिद्रपूर्ण होगा।
close
Scroll to Top
Scroll to Top