सात्विक स्वादिष्ट खीचूरी भोग बनाएं देव देवी एवं नित्य भोजन के लिए। Khichuri bhog recipe in Hindi

Khichuri bhog Recipe Final Step

खीचूरी भोग रेसिपी स्वादिष्ट, पौष्टिक होने के साथ सात्विक व्यंजन भी है जो पूजा, व्रत अथवा नित्य दिन के भोजन के लिए सम्पूर्ण रूप से उपयुक्त है।

इसके मुख्य सामग्री है एक प्रकार के छोटे दाने वाले सुगंधित बासमती चावल जिसे गोविंदभोग कहा जाता है। पारंपरिक तौर पर यह व्यंजन को मूंग दाल, कई प्रकार की नरम संख्त सब्ज़ियाँ, आलू एवं घी सहित तैयार किया जाता है।

यहाँ चावल एवं दाल को उबाल कर पकाने से पहले गरम बर्तन में घी के संग थोड़ा सेंक लिया जाता है। सब्ज़ियों को अलग से तलकर सेंके हुए दाल एवं चावल को मसालों के संग मिला दिया जाता हैं एवं आवश्यकता अनुसार पानी के द्वारा उबाल कर पकाया जाता है। दाल एवं चावल पकते वक्त पानी को सोख लेता है जिससे यह व्यंजन का मूल गठन घना, चिपचिपा तथा गाढ़ा बनता है।

ऐसे बनाएं यह व्यंजन

  • बासमती चावल और मूंगदाल को पानी बदलकर धो लें एवंआधे घण्टे के लिए पानी में भिगों दें।
  • अब छलनी से पानी को छान लें। अलग बर्तन में रखें।
  • सब्ज़ियों को काट कर तैयार कर लें।
  • आलू के छिलके निकालकर छोटे चौकोर आकार में काट लें।
  • धीमी आंच पर सॉस पैन में एक चम्मच घी, तेज पत्ता, दालचीनी, लौंग डालकर गरम होने दें।
  • चावल को डालकर दो से तीन मिनट तक करछुल चलाकर सेंक लें। अलग बर्तन में रखें।
  • अब मूंग दाल को डालकर दो से तीन मिनट तक करछुल चलाकर सेंक लें। अलग बर्तन में रखें।
  • सॉस पैन में घी गरम करें एवं सुखी मिर्ची, साबुत जीरा,पांच फोरन, डालकर चटकने दें।
  • आलू को सुवर्ण भूरा होने तक तलें।
  • अब अन्य सभी सब्ज़ियों को डालकर कुछ देर तक पकाएं। सब्ज़ियों को तुरंत पकाने के लिए पैन को ढक दें।
  • दाल और चावल को पैन में डालकर कुछ देर तक करछुल से चलाते रहें।
  • हल्दी, लाल मिर्च पाउडर, जीरा पाउडर, धनिया पाउडर डालकर मिला दें।
  • अब दाल चावल से दुगना पानी डालें।
  • एक चम्मच शक्कर डालकर मिला दें।
  • स्वादानुसार नमक डालकर मिला दें।
  • पैन में ढक दें। दाल और चावल को भाँप में पकने दें। आंच मध्यम रखें।
  • व्यंजन पक जाने पर स्वाद को परखकर संतुलित करें।
  • आँच को बंद करें।
  • ऊपर से घी डालकर मिला दें।
  • व्यंजन को गरम गरम परोसें। संग में आलू भाजा, बेगनी, टमाटर का चटनी, चर्चरी, पटोल भाजा, पायेश भी परोसें।

बिल्कुल कठिन नही है यह व्यंजन को तैयार करना।

पारंपरिक तौर पर यह व्यंजन को तैयार करना बिल्कुल सरल है। यह रेसिपी को अनुसरण कर के बिल्कुल कम समय में यह व्यंजन को तैयार किया जा सकता है।

यह व्यंजन की विशेष ख़ासियत

यह व्यंजन पश्चिम बंगाल का एक पारंपरिक व्यंजन है जिसे त्योहार, व्रत, भोग प्रसाद अथवा रोज़ के सेवन के लिए तैयार किया जाता है। बंगाल की दुर्गापूजा, काली पूजा, लक्ष्मीपूजा, आदि में यह एक प्रचलित मुख्य व्यंजन है।  

इस तरह करें यह व्यंजन का समावेश

यह व्यंजन को हर दिन के सेवन के लिए भी तैयार किया जा सकता है। दाल, चावल एवं सब्ज़ियाँ मिलकर यह एक संपूर्ण पौष्टिक आहार है।

यह व्यंजन को बनाने के लिए निम्न में दिए हुए विधि का अनुसरण करें।

व्यंजन के वर्गीकरण

व्यंजन शैली / Cuisineबंगाल शैली / पूर्व भारतीय
भोजन चुनावशाकाहारी / मुख्य भोजन
व्यंजन नामखीचूरी भोग

आहार के प्रकार

सात्विक भोजनहाँ
वैष्णव भोजनहाँ

रंधन पाक समय

सामग्री तैयारी करने का समय10 Mins
पकाने का समय/ कुकिंग टाइम60 Mins
कुल समय70 min

सर्विंग

अंश / पोर्शन6 व्यक्ति के लिए

खीचूरी भोग रेसिपी के लिए सामग्री | Ingredients

गोविंग भोग चावल (कटे हुए)400 gm
मूंग दाल200 gm
आलू (छोटे चौकोर कटे हुए)150 gm
हरा मटर150 gm
पत्ता गोभी (पतली कटी हुई)100 gm
फूल गोभी (फूल के छोटे  टुकडें)150 gm
फूलगोभी के डंठल (एक उँगली जैसे लंबे पतले कटे हुए)100 gm
टमाटर (बारीक कटे हुए)150 gm
हरी मिर्च (चिरी हुई)4 मिर्च
तेज पत्ता2 पत्तें
दालचीनी2 दालचीनी
लौंग6 लौंग
सेंधा / साधारण नमकस्वादानुसार
पानीआवश्यकता अनुसार
घी / तेल (गलाया हुआ घी)   6 tablespoon

बर्तन

बर्तन बड़ा हांडी / डेकची / कढ़ाई 

व्यंजन की विधि चित्र सहित (प्रिपरेशन मेथड) 

Khichuri bhog recipe Step 1
  • बासमती चावल एवं मूंगदाल को पानी से धोकर अलग अलग बर्तन में लगभग आधे घंटे तक भिगोंकर रखें।
Khichuri bhog Recipe Step 2
  • अब छलनी से दाल एवं चावल को पानी से छान लें एवं अलग बर्तन में रखें।
  • सब्ज़ियों को धोकर एवं काटकर अलग बर्तन में रखें।
  • मध्यम आंच पर सॉस पैन को रखें और उस पर एक टेब्लस्पून घी डालें।
  • घी गर्म होने पर सॉस पैन में तेजपत्ता, दालचीनी, लौंग चावल डालें। 
Khichuri bhog Recipe Step 3
  • चावल को दो से तीन मिनट तक करछुल से चला कर सेंक लें। चावल का हल्का रंग बदलने पर अलग तश्तरी पर रखें।
  • दोबारा पैन में आधा टीस्पून घी डालें। दाल को दो से तीन मिनट तक करछुल से चला कर सेंक लें। हल्का रंग बदलने पर अलग तश्तरी पर रखें।
Khichuri bhog Recipe Step 4
  • अब तीन टेब्लस्पून घी डालें। गर्म घी में सुखी लाल मिर्च, साबुत जीरा, तेज पत्ता डालकर चटकने दें।
  • कटे हुए आलू को पैन में डालें। धीमी आंच पर थोड़ा भूरा होने तक तलें। फ्राइंग पैन पर ढक्कन डालकर आलू को तलें। आँच धीमी रखें।
  • सब्ज़ियों को पैन में डालकर कुछ देर तक करछुल से चलाकर घी में पकायें। पैन को ढक दें। भाँप में सब्जी को कुछ देर तक पकने दें। आँच को धीमी रखें। 
  • अब सेंके हुए दाल, चावल को पैन में डालकर करछुल से चलाकर सब्ज़ियों के संग मिला दें।
  • धनिया पाउडर, जीरा पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर डालकर मिला दें।
  • अब दाल, चावल के भाग से दो गुना पानी डालें अथवा आवश्यकता अनुसार पानी डालें।
Khichuri bhog Recipe Step 5
  • हरी मिर्च, स्वादानुसार नमक, एक टीस्पून शक्कर डालकर मिला दें। 
  • पैन पर ढक्कन लगा दें। मध्यम आंच पर लगभग आधे घण्टे तक पकने दें।
  • यदि व्यंजन का पानी अधिक सूखने लगे तब आवश्यकता अनुसार गरम पानी मिला दें। व्यंजन को करछुल से चला दें एवं पकने दें।
  • लगभग आधे घण्टे के बाद व्यंजन को परख लें। व्यंजन पूरी तरह से पक जाने पर आंच को बंद करें।
  • ऊपर से  एक चम्मच घी डालकर मिला दें।
  • अब सब्ज़ी के स्वाद को परख लें। स्वाद को आवश्यकता अनुसार संतुलित कर लें।
  • व्यंजन बनकर तैयार है। आँच को बंद करें।

परोसने की विधि

टिप्सः

  • यह व्यंजन में साधारण नमक के स्थान में सेंधा नमक का उपयोग भी किया जा सकता है।
  • यह व्यंजन को घी में बनाने से उत्कृष्ट स्वाद होता है।
  • सात्विक आहार में प्याज, लहसुन का उपयोग न करें।
  • जैन व्यंजन में ज़मीन के नीचे मिलने वाली सब्ज़ियों का उपयोग न करें। प्याज़, लहसुन का उपयोग भी बिल्कुल न करें।
  • स्वाद को परख लें।

Leave a Reply

close
Scroll to Top