ग्रीन मैंगो जैम रेसिपी | Green Mango jam Recipe in Hindi

Green Mango Jam Recipe Final Step

मैंगो जैम रेसिपी देख कर बनाएं यह स्वादिष्ट व्यंजन।

कच्चे आम से यह व्यंजन को घर में आसानी से तैयार किया जा सकता है। यह व्यंजन को ठीक से रखने और लंबे समय तक उपयोग किया जा सकता है। अब बाजार से जैम खरीदने की आवश्यकता नहीं है। घर में ही यह व्यंजन को सरलता से बनाएं।

यह व्यंजन को बनाने के लिए निम्न में दिए हुए विधि का अनुसरण करें।

व्यंजन शैली / Cuisineभारतीय
भोजन चुनावशाकाहारी / चटनी
व्यंजन नाम ग्रीन मैंगो जैम
सात्विक आहारहाँ
जैन भोजन हाँ
सामग्री तैयारी करने का समय5 Mins
पकाने का समय/ कुकिंग टाइम20 Mins
कुल समय25 mins
अंश / पोर्शनअंदाज़ अनुसार 

मैंगो जैम रेसिपी के लिए सब्ज़ी सामग्री | Ingredients

कच्चा आम (कैरी)400 gm
शक्कर200 gm / 12 tablespoon
सिरका1 tablespoon
छोटी इलाइची2 इलाइची
लौंग4 लौंग
जायफल (कसा हुआ) (वैकल्पिक)1 चुटकी
पानी (उबालने के लिए)500ml / आवश्यकता अनुसार

विधि (प्रिपरेशन मेथड)

Mango Jam Recipe Step 1
  • कच्चे आम को धो कर उसके छिलके को छील कर अलग कर दें। फिर काटकर छोटे टुकड़े कर दें।
Mango Jam Recipe Step 2
  • गुठली को अलग कर दें।
  • गुठली को ग्रेटर पर धीरे धीरे घिस कर शेष आम को निकाल लें।
  • प्रेशर कुकर में पानी गर्म करें। पानी में एक टेबल स्पून सिरका डालें। कटे हुए आम को डाल दें। आँच को मध्यम रखें।
Mango Jam Recipe Step 3
  • कुकर में दो विस्सल आने तक आम को पकने दें।
  • आँच को बंद करें। कुकर ठंडा होने पर उबले हुए आम को छलनी पर रखें। पानी झड़ जाने दें।
  • आम के पल्प को हाथ से मसल दें। अलग रखें।
  • धीमी आंच पर पैन में एक टीस्पून घी डालकर गरम करें। पैन में शक्कर डालकर करछुल से कुछ देर चलाते रहें।
Mango Jam Recipe Step 4
  • जब शक्कर गलकर डली बनने लगे तब गर्म पानी डालें। लौंग डालें।
  • शक्कर पानी को उबलने दें। करछुल से चलाते रहें। आँच को धीमी रखें।
  • शक्कर गल जाने पर आम के पल्प को पैन में डालें। इलायची डालें। करछुल से मिश्रण को चलाते रहें।
  • मिश्रण गाढ़ा होने पर एक टीस्पून घी डालकर मिला दें।
Mango Jam
  • एक चुटकी हल्दी डालें। एक चुटकी कसा हुआ जायफल डालें। अच्छी तरह मिला दें।
  • यह व्यंजन गाढ़ा एवं चिपचिपा होना चाहिए। करछुल से मिश्रण को चलाते रहें। आँच को धीमी रखें।
  • स्वाद को परख लें। स्वाद खट्टा और मीठा होना चाहिए। आवश्यकता अनुसार स्वाद को संतुलित करें।
  • यह व्यंजन गाढ़ा एवं चिपचिपा होने पर समझना चाहिए कि व्यंजन तैयार है।
  • आँच को बंद करें। 
  • व्यंजन को खुला रखें। ठंडा होने पर हवा रहित डिब्बे में रखें।
  • आवश्यकता अनुसार रोटी, पराठा, ब्रेड इत्यादि के साथ सेवन करें।

टिप्सः

  • यह व्यंजन तैयार करने के लिए शक्कर का सटीक परिमाण कच्चे आम के खट्टेपन पर निर्भर करता है। इसका ध्यान रखें।
  • यह व्यंजन को फ्रिज में बहुत दिनों तक रखा जा सकता है। 
  • आम को उबालते समय एक तेजपत्ता डाल दें। यह करने से खुशबू अच्छी होगी।
  • हल्दी का उपयोग व्यंजन को रंग देने के लिए किया गया है। अधिक मात्रा में हल्दी का उपयोग करने से बचें। स्वाद एवं रंग खराब हो सकता है।
  • आवश्यकता अनुसार आम के पल्प को मिक्सर जार में पीस लें।
  • मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति यह व्यंजन का सेवन कम करें।
close
Scroll to Top