मूंगफली गुड़ की चिक्की रेसिपी | Mungfali gur ki chikki Recipe in Hindi

मूंगफली गुड़ की चिक्की

मूंगफली गुड़ की चिक्की रेसिपी- जिससे बनाएं यह सूखा मिष्ठान्न जो विदेशी चॉकलेट् के मुकाबले में है कई गुना स्वादिष्ट एवं पौष्टिक।

यह व्यंजन को बिल्कुल कम वक्त में तैयार किया जा सकता है। हर दिन में सेवन करने के लिए एवं धार्मिक अनुष्ठान, व्रत इत्यादि में सेवन के लिए सदा उपयुक्त है। भारत के सभी प्रान्तों में यह व्यंजन प्रचलित है परन्तु महाराष्ट्र राज्य के पूना जिला अंतर्गत लोनावला शहर में इसका एक खास वजूद है। यह शहर में इस व्यंजन से मुख्य उद्योग का विकास हुआ है एवं प्रधानतः एक मुख्य व्यवसाय तथा रोजगार का जरिया भी बना है। लोनावला की चिक्की को देश एवं विदेश में उच्च लोकप्रियता प्राप्त हुई है।

ऐसे बनाएं यह व्यंजन

  • धीमी आंच पर गरम कढ़ाई में कसा हुआ गुड़ डालें।
  • गुड़ गलने पर करछुल से चलातें रहें। यह प्रक्रिया लगभग दो मिनट तक करनी है।
  • गुड़ फूलकर उस पर झाग आने लगेंगे। 
  • एक कटोरी भर पानी में एक बिंदु गला हुआ गरम गुड़ डालें। गुड़ जम जाने पर समझना चाहिए यह पक कर तैयार है।
  • एक टीस्पून घी डालकर मिला दें।
  • मूंगफली को डालकर अच्छी तरह मिला दें।
  • एक थाली के उल्टे भाग पर एक चम्मच घी लगा दें।
  • आँच को बंद करें।
  • गरम गुड़ एवं मूंगफली मिश्रण को थाली के उल्टे भाग पर डाल दें।
  • एक बेलन पर घी लगा दें।
  • गुड़ का मिश्रण जब ठंडा होने लगे एवं  जमने लगे तब बेलन चलाकर मिश्रण को फैला दें।
  • ठंडी होने पर मिश्रण स्थिर हो जायगा।
  • जमे हुए मिश्रण पर एक छुरी से चौकोर गहरे दाग बना दें।
  • मिश्रण पूरी तरह से ठंडा हो जाने पर दाग के ऊपर से छुरी चला कर चौकोर आकार में काटें।
  • व्यंजन तैयार है।
  • पसंद अनुसार समय पर इसका आहार करें।
  • हवा रहीत डिब्बे में रखने से यह महीनों आहार उपयुक्त रहता है।

बिल्कुल कठिन नही है यह व्यंजन को तैयार करना।

पारंपरिक तौर पर यह व्यंजन को तैयार करना बिल्कुल सरल है। यह रेसिपी को अनुसरण कर के बिल्कुल कम समय में यह व्यंजन को तैयार किया जा सकता है।

यह व्यंजन की विशेष ख़ासियत

यह व्यंजन को तैयार करने के लिए मात्र दो मुख्य सामग्रियों की आवश्यकता होती है। बहुत की कम समय पर बनने वाला यह एक पौष्टिक तथा स्वादिष्ट मिष्ठान्न व्यंजन है। यह व्यंजन महीनों तक ताज़ा रहता है एवं कभी भी इसका सेवन किया जा सकता है।

इस तरह करें यह व्यंजन का समावेश

रोज़ के नित्य मुख्य भोजन में यह व्यंजन को मिष्टान्न की तरह समावेश करना लाभ दायक है। बच्चों के भोजन डब्बे में एवं बाजार के चॉकलेट, टॉफ़ी आदि के स्थान पर यह व्यंजन का उपयोग किया जा सकता है। कसरत करने वाले व्यक्ति ऊर्जा प्राप्त करने हेतु यह व्यंजन का सेवन कर सकते हैं।

यह व्यंजन को बनाने के लिए निम्न में दिए हुए विधि का अनुसरण करें

व्यंजन के वर्गीकरण

व्यंजन शैली / Cuisineसर्व भारतीय
भोजन चुनावशाकाहारी / मिष्ठान्न
व्यंजन नाममूंगफली गुड़ की चिक्की

आहार के प्रकार

सात्विक भोजनहाँ

रंधन पाक समय

सामग्री तैयारी करने का समय :2 Mins
पकाने का समय/ कुकिंग टाइम5 Mins
कुल समय 7 min

सर्विंग

अंश / पोर्शन2 व्यक्ति के लिए

मूंगफली गुड़ की चिक्की रेसिपी के लिए सामग्री | Ingredients

गुड़ (कसा हुआ)300 gm
मूंगफली भुनी हुई100 gm
घी1 teaspoon

थाली, बेलन पर चिकनाहट के लिए

घी2 टीस्पून
  • बेलन पर घी लगा कर चिकन कर दें।
  • थाली के उल्टे भाग पर घी लगा कर चिकना कर दें।

व्यंजन की विधि चित्र सहित (प्रिपरेशन मेथड) 

Gur mungfali ki chikki ecipe Step 1
  • धीमी आँच पर कढ़ाई को गर्म करें।
  • कसा हुआ गुड़ डालकर गलने दें। लगभग दो मिनट तक गुड़ को पकने दें।
  • एक छोटी कटोरी पानी में एक बिंदु गुड़ डालें। गुड़ तुरंत जम जाने पर समझना चाहिए कि गुड़ पक गया है।
  • मूंगफली को गुड़ पर डाल दें।
Gur mungfali ki chikki Recipe Step 2
  • एक करछुल से गुड़ और मूंगफली को मिला दें। आँच को धीमी रखें।
  • आँच को बंद करें।
  • घी लगी हुई थाली के उल्टे भाग पर गुड़ और मूंगफली के मिश्रण को फैलाकर डालें।
  • गरम मिश्रण जब सहने लायक ठंडा हो जाए एवं हल्का नरम रहे तब घी लगे हुए बेलन से मिश्रण को बेलकर फैला दें।
  • पूरे मिश्रण पर एक चाकू द्वारा हल्का दबाकर चौकोर घर जैसा दाग बना दें।
  • मिश्रण बिल्कुल ठंडा होने पर सख्त हो जायेगा तब किये हए दाग के अनुसार उसे काट लें।
Gur mungfali ki chikki Recipe Step 3
  • सेवन के लिए व्यंजन तैयार है।

परोसने की विधि

भंडारण की विधि

  • हवा राहीत डिब्बे में रखने से यह व्यंजन महीनों ताज़ा रहता है। 

टिप्सः

  • गुड़ के मान के अनुसार यह व्यंजन का स्वाद निर्भर है।
  • लगभग दो मिनट में गुड़ पक कर तैयार हो जाता है।
  • गुड़ अधिक पकने पर यह व्यंजन सख्त, कड़वा एवं दांतों में चिपकने वाला बन सकता है। इसलिए गुड़ को पकाते वक्त आँच को धीमी रखें।
  • व्यंजन पकते समय घी मिलाने पर स्वाद एवं सुगंध में वृद्धि होती है।
  • बेलन एवं थाली को चिकना करने के लिए सदा घी का ही उपयोग करें।
  • मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति मीठे व्यंजन का श्रवण नियंत्रित मात्रा में करें।
  • मूंगफली के प्रति असहिष्णुता रहने पर यह व्यंजन का सेवन नियंत्रित मात्रा में करें अथवा बिल्कुल ही सेवन न करें।
Submit your review
1
2
3
4
5
Submit
     
Cancel

Create your own review
स्वादिष्ट रेसिपी
Average rating:  
 0 reviews

Leave a Reply

close
Scroll to Top