उबले हुए चावल कैसे बनते हैं? | How is boiled rice made?

उबले हुए चावल

उबले हुए चावल रेसिपी को अनुसरण करें और बनाएं चमकती हुई मोतियों जैसा यह व्यंजन।

उबले हुए चावल क्या है?

किसी भी प्रकार के चावल को पानी में उबालकर अथवा पानी की भाँप में पका देने पर जो व्यंजन प्राप्त होता है उसे ही उबले हुए चावल कहते है। यह व्यंजन में किसी भी प्रकार का मसाला, सब्ज़ी, घी, तेल इत्यादि को मिलाया नहीं जाता है। भारतीय खाद्य शैली अथवा अन्य एशियाई या अन्य खाद्य शैली में यह व्यंजन स्वयं ही एक मुख्य खाद्य सामग्री है, जिसे लोग पसंद अनुसार शाकाहारी अथवा मांसाहारी विभिन्न व्यंजनों के साथ सेवन करते हैं।

उबले हुए चावल,भात या सादा चावल में क्या फर्क है?

कच्चे चावल पकने पर उबले हुए चावल, भात अथवा सादा चावल में रूपांतर होता है। यह सभी नाम एक ही व्यंजन के हैं। भारत देश में प्रान्त अनुसार विभिन्न भाषाओं का चलन है। प्रान्त और भाषा के चलन अनुसार लोग एक ही व्यंजन को विभिन्न नाम से चिह्नित करते हैं। इस तरह साधारण स्तर पर भात और सादा चावल में कोई फर्क नही है। 

यह व्यंजन कैसे बनता है?

पका हुआ यह व्यंजन की मुख्य सामग्री चावल है जिसे गरम पानी में उबालकर अथवा गर्म भाँप पर पकाया जाता है।

चावल कितने प्रकार के होते है?

भारतीय भोजन पाक शैली में प्रधानतः दो प्रकार के चावल का उपयोग होता है। पहला है, उकड़ा चावल जिसे छिलके सहित उबाल कर खाद्य योग्य किया जाता है। यह चावल को अंग्रेज़ी में परबोइल राइस (parboil rice) कहा जाता है। यह चावल को पकने में अधिक वक्त लगता है। रोज़ के आहार में यह चावल का उपयोग सबसे अधिक किया जाता है।

दूसरा है उसना चावल, जिसे छिलका सहित अथवा छिलका रहित उबाला नही जाता है। उत्पादन होने के बाद मील में भूसी को निकालकर चावल को बाजार में उपलब्ध कराया जाता है। यह चावल हल्का एवं खुशबूदार होता है एवं कम समय में पक जाता है। यह चावल से विभिन्न व्यंजन तथा मिठाई आदि बनाये जाते हैं। बासमती उसना चावल का उदाहरण है।

क्या यह व्यंजन बनाना कठिन है?

यह व्यंजन को पकाना सबसे सरल है। चावल को गरम पानी में डालकर सिर्फ उबालना होता है अथवा भाँप पर पकाना होता है। इस व्यंजन की ख़ासियत यह है कि यह एक बार में ही अपने आप पक कर तैयार हो जाता है। 

इस व्यंजन की ख़ासियत क्या है?

इस व्यंजन की खास बात यह है कि यह पकने पर स्वयं एक भोजन है परंतु, उन्नत स्तर की पाक विधि के माध्यम से यह व्यंजन को अन्य खाद्य सामग्रियों से मिलाकार अनगिनत विभिन्न व्यंजन तैयार किये जा सकते हैं। उदारहण- मसाला भात, जीरा राइस, पुलाव, बिरियानी इत्यादि।

यह व्यंजन को भोजन सूची में किस तरह समावेश किया जाय?

यह व्यंजन को दोपहर एवं रात्रि के समय मुख्य भोजन के तौर पर समावेश किया जाता है। परन्तु पसंद अनुसार इससे तैयार किये हुए विभिन्न व्यंजनों को लोग अन्य समय पर सेवन करते रहते हैं। 

निम्न में दिए हुए विधि को अनुसरण करें और सरलता से बनाएँ यह व्यंजन ।

व्यंजन के वर्गीकरण

व्यंजन विधि/ Cuisineभारतीय
भोजन चुनावशाकाहारी
व्यंजन  नामभात

आहार के प्रकार

शाकाहारी आहारहाँ
सात्विक आहारहाँ
जैन आहारहाँ
वेगन आहारहाँ

रंधनपाक समय

सामग्री तैयार करने का समय:30 Mins  
पकाने का समय / कुकिंग टाइम30 Mins
कुल समय60 Mins

सर्विंग

अंश 4 व्यक्ति के लिए

उबले हुए चावल रेसिपी के लिए सामग्री | Ingredients

सामग्रीमात्रा
चावल (उकड़ा) 400 gm
नमक (वैकल्पिक)   एक चुटकी
पानी (साधारण नियम: चावल से दुगुना पानी)आवश्यकता अनुसार

व्यंजन की विधि चित्र सहित (प्रिपरेशन मेथड) 

Boiled Rice Recipe Step 1
  • चावल को ठीक से झाड़ लें। उसमे से खाद्य अनुपयुक्त सामग्रियाँ को निकाल कर अलग कर दें।  
  • चावल को एक बर्तन में रखकर पानी डालकर धो लें। चावल में मौजूद धूल को निकल जाने तक पानी बदल कर धो लें।
  • चावल को लगभग आधे घण्टे तक पानी में भिगोंकर कर रखें।
  • अब मध्यम आंच पर एक गहरे बर्तन में आवश्यकता अनुसार पानी डालकर आँच पर रखें। पानी में दो चुटकी नमक डालें। पानी को पूरी तरह से उबलने दें।
  • पानी उबलने जाने पर भिगोये हुए चावल को गर्म पानी में डाल दें।
  • चावल को आधे घण्टे तक उबालें अथवा चावल नर्म होने तक आवश्यकता अनुसार समय तक पका लें। 
  • लगभग बीस मिनट के बाद चावल कितना नरम हुआ वो परख लें। 
  • चावल  मुलायम, नरम परंतु थोड़ा सख्त होना चाहिए। दान को गलने न दें एवं चिपचिपा न होने दें।
  • व्यंजन के आवश्यकता अनुसार पक जाने पर आंच को बंद करें।
  • अब गरम व्यंजन पर ऊपर से लगभग एक कप जितना अथवा थोड़ा सा साधारण तापमात्रा वाली पानी डाल दें।
Boiled Rice Recipe Step 2

व्यंजन से पानी अलग करने की विधि

  • अलग से एक गहरा बर्तन लें और उस पर एक जाली या बड़ी छलनी रखें।
  • व्यंजन के बर्तन को सावधानी से उठाएं। अब बर्तन में से पके हुए व्यंजन को सावधानी से धीरे धीरे छलनी पर उड़ेल दें।
  • व्यंजन से पानी को अलग होकर जाली से पूरी तरह से निकल जाने दें।
  • यहाँ फेकने के बजाय, निकले हुए चावल के पानी को, कई तरह से काम पे लगाया जा सकता है।
  • व्यंजन से पूरी तरह से पानी निकल जाने पर उसे एक बर्तन में रखें।
  • व्यंजन तैयार है।

परोसने की विधि

गरमा गरम परोसें दाल, सब्ज़ी एवं पसंद अनुसार अन्य खाद्य व्यंजनों के साथ।

टिप्स:

  • यह रंधन विधि में उकड़ा चावल का उपयोग हुआ है। यह चावल को पकने आधा घंटा लगता है।
  • उसना चावल को पकने में अधिक वक्त नही लगता है। लगभग दस मिनट में पक कर तैयार हो जाता है। इसलिए इस बात का खास ध्यान रखें।
  • पानी निकाल कर बर्तन के ढक्कन को खुला रखें क्योंकि गर्म भाँप और ताप से व्यंजन की पकने की क्रिया कुछ देर चलती रहती है जिससे व्यंजन गलकर चिपचिपा बन सकता है।
  • पकाने से पहले चावल को पानी में लगभग आधा घण्टे तक भिगोंकर रखने से खुला खुला पकेगा।
  • व्यंजन के अच्छे परिणाम के लिए चावल को हमेशा पानी उबलने के बाद ही डालें।
  • पानी में एक चुटकी नमक अथवा कुछ बूंदे निम्बू का रस मिला देने पर व्यंजन का परिणाम स्वच्छ एवं उज्ज्वल होगा।
  • पके हुए चावल के पानी को सूप, सब्ज़ी, दाल में उपयोग किया जा सकता है। यह एक तुरंत ऊर्जा का स्रोत है।
  • चावल में स्टार्च उपलब्ध रहता है। वही स्टार्च चावल के पानी में घुल जाता है। इसलिए यह स्टार्च वाले पानी को सूती के कपड़ों में लगाया जा सकता है। यह स्टार्च पानी बाज़ार में उपलब्ध स्टार्च जैसा ही कारगर है।

FAQ

Q.बिना उबले धान का चावल को क्या कहते हैं?

Ans :- उसना चावल।

Q.सबसे अच्छा चावल कौन सा है?

Ans :-  सबसे अच्छे चावल का नाम ‘बासमती’ है। भारत देश में विभिन्न प्रकार के चावल का उत्पादन किया जाता है जिसमे ‘बासमती’, चावल परिवार का राजा है। यह चावल सुंगन्धित एवं श्रेष्ठ प्रकृति होकर हर प्रकार से उत्कृष्ट है।

Q.शुगर में कौन सा चावल खाना चाहिए?

Ans:- शुगर से पीड़ित व्यक्तियों को चावल से परहेज़ करना चाहिए। क्योंकि इसमें उच्च मात्रा में स्टार्च यानी श्वेतसार उपलब्ध है जो मधुमेह से पीड़ित व्यक्तियों के लिए नुकसान दायक हो सकता है। चावल में सिर्फ ब्राउन राइस, बासमती चावल एवं वाइल्ड राइस का GI (ग्लैसेमिक इंडेक्स) मध्यम स्तर पर होता है, जिसका सेवन नियंत्रित मात्रा में किया जा सकता है। यह भी ध्यान रखना है कि जिस चावल की परत को बिल्कुल पॉलिश न किया गया हो ऐसे ही चावल का सेवन नियंत्रित मात्रा में करना चाहिए। पॉलिश किये हुए चावल के सेवन से बचना चाहिए।

Q.उबला चावल का पर्यायवाची।

Ans:- उबला चावल का पर्यायवाची उकड़ा चावल है। अंग्रेज़ी में इसे परबोइलेड राइस (parboiled rice) अथवा साधारणतः इसे उबला चावल कहा जाता है।

Q.चावल कब तक उबालते हैं?

Ans:- तब तक उबालें जब तक कि पानी पूरी तरह से अवशोषित न हो जाए और चावल नर्म न हो जाए – लगभग 15-25 मिनट (चावल के आकार और ताजगी पर निर्भर करेगा)।

Q.चावल में पानी का अनुपात क्या है?

Ans :- सफेद चावल के लिए मूल पानी का अनुपात 2 कप पानी से 1 कप चावल है

Q.ब्राउन राइस को पकने में कितना समय लगता है?

Ans :-  ब्राउन राइस को पकाने में कम से कम आधा घण्टा से चालीस मिनट समय लग सकता है। यहाँ बताया गया पकाने का समय प्राप्त करने के लिए पानी की तापमात्रा पूर्ण 100° डिग्री का होना आवश्यक है।

Leave a Reply

close
Scroll to Top