चिल्ली चिकन कैसे बनता है? | How is Chilly Chicken made?

चिल्ली चिकन

चिल्ली चिकन क्या है?

चिल्ली चिकन रेसिपी: भारतीय चीनी खाद्य शैली में पकाकर तैयार करने वाले अनेक व्यंजनों में से यह एक रंगीन, चटपटा, ज़ायकेदार, तुरंत मुँह में पानी लाने वाला एक अन्यतम लोकप्रिय मांसाहारी व्यंजन है।

Table of Content

इंडो-चाइनीज़ क्विज़ीन शैली क्या है?

चाइनीज़ सॉस एवं चाइनीज़ मसालों का उपयोग करके भारतीय विधि शैली का मिश्रण कर के खाद्य को तैयार करने की शैली को यहाँ इंडो-चाइनीज़ क्विज़ीन कहा जाता है। यह पद्धति को अंग्रेज़ी में फ्यूज़न शैली (fusion style of cooking) भी कहा जाता है।

चिकन चिली और चिली चिकन में क्या फर्क है?

यह जान लें कि दोनों व्यंजन में कोई फर्क नहीं है। मुख्य व्यंजन एक ही है सिर्फ यह व्यंजन के नाम को बोलते समय जाने अनजाने में शब्दों को आगे पीछे कर दिया जाता है।

यह व्यंजन कैसे बनता है?

यह व्यंजन की मुख्य सामग्री चिकन यानी मुर्गी का मांस, चाइनीज़ सॉस  एवं ताज़ी मिर्च है। मुर्गी के हड्डी रहित मांस को अदरक, लहसुन, निम्बू के रस, कालिमिरी, सफेदमिरी, सोया सॉस,नमक मिश्रण में मैरिनेट करना है।

अंडा, मैदा, कॉर्नफ्लोर, नमक एकत्र मिलाकर  गाढ़ा घोल तैयार करना है। 

मैरिनेट किये हुए मांस के टुकड़ों को घोल में डुबोकर लपेटना है फिर गरम तेल में पकौड़े जैसा तलना है। 

अब फ्राइंग पैन में थोड़ा से तेल में अदरक -लहसुन पेस्ट, बारीक कटे हुए लहसुन को हल्का भून लेना है।

कटे  हुए  प्याज़, शिमला मिर्च इत्यादि सब्ज़ियों को बिल्कुल हल्का भून कर तलना है।

आवश्यकता अनुसार सोया सॉस, ग्रीन चिली सॉस, रेड चिली सॉस, कालीमिरी, सफेदमिरी, सिरका, नमक डालकर  सब्ज़ियों से मिला देना है। 

कॉर्नफ्लोर को पानी में घोलकर मिश्रण में डालकर गाढ़ा रसा (gravy) तैयार करना है। 

अब तली हुई मुर्गी के पकौड़ों को रसा में डालकर मिला देना है। धीमी आंच पर कुछ देर पकाना है। 

बारीक कटे हुए हरा प्याज़, धनिया पत्ते को ऊपर से डालकर सजाना है। 

व्यंजन तैयार है। गरम गरम परोसें नूडल या राइस के संग।

क्या यह व्यंजन बनाना कठिन है?

यह व्यंजन एक चटपटा स्वादिष्ट खाद्य है जिसे बनाना बहुत ही आसान है। चिकन के टुकड़ों को तलकर विभिन्न सॉस में मिलाकर पकाना है। इस तरह कुछ ही मिनटों में यह व्यंजन बनकर तैयार ही जाता है।

यह व्यंजन को भोजन सूची में किस तरह समावेश किया जाय?

यह व्यंजन को भोजन के शुरुवात में स्टार्टर की तरह सेवन किया जा सकता है एवं मुख्य भोजन के साथ भी शामिल किया जा सकता है।

क्या यह व्यंजन को कॉकटेल स्टार्टर में शामिल किया जा सकता है?

भोज अनुष्ठानों में यह व्यंजन मांसाहारी सेवन करने वालों के लिए हर प्रकार से एक उत्तम चयन है। यह स्टार्टर एवं मुख्य भोजन के लिए बिल्कुल उपयुक्त है।

क्या यह व्यंजन बच्चों को पसंद आएगा? 

यह व्यंजन का स्वाद बहुत चटपटा एवं लज़ीज़ होता है। बच्चों को चटपटे व्यंजन बहुत पसंद आते हैं। बच्चों के सेवन उपयुक्त व्यंजन में मिर्च का उपयोग कम करें या बिल्कुल न करें।

निम्न में दिए हुए विधि को अनुसरण करें और सरलता से बनाएँ यह व्यंजन ।

व्यंजन के वर्गीकरण

व्यंजन विधि/ Cuisineइंडो चीनी / भारतीय
भोजन चुनावमांसाहारी
व्यंजन  नामचिली चिकन
आहार के प्रकारमांसाहारी

रंधनपाक समय  

सामग्री तैयार करने का समय10 Mins
पकाने का समय/ कुकिंग टाइम20 Mins
कुल समय 30 Mins

सर्विंग

अंश2 व्यक्ति के लिए

चिल्ली चिकन रेसिपी के लिए सामग्री | Ingredients

मुर्गी के मांस को मैरिनेट करने लिए सामग्रीयाँ

सामग्री   मात्रा
मुर्गी का मांस (हड्डी रहित) (एक उंगली समान लंबे टुकड़ों में कटा हुआ) 200 gm
अदरक लहसुन पेस्ट1 teaspoon
कालिमिरी पाउडर½ tea spoon
व्हाइट पिपर पाउडर ½ tea spoon
लाल मिर्च  पाउडर¼ teaspoon
सोया सॉस   1 tablespoon
नमकस्वाद अनुसार

मुर्गी मांस के लिए लपेटन मिश्रण (बैटर) तैयार करने के लिए सामग्रियाँ

सामग्री मात्रा
कॉर्न फ्लौर2 tablespoon
मैदा 2 tablespoon
अंडा1 अंडा
नमक  1 चुटकी / स्वादानुसार
खाने का सोडा  1 चुटकी

व्यंजन को पकाने के लिए अंतिम चरण की सामग्रियाँ

सामग्री   मात्रा
शिमला मिर्च (मध्यम आकार) (चौकोर कटा हुआ) 1 शिमला मिर्च
प्याज़ (मध्यम आकार) (चौकोर पंखड़ी जैसा कटा हुआ)1 प्याज़
लहसुन (बारीक कटा हुआ)1 teaspoon
अदरक (बारीक कटा हुआ)   1 teaspoon
हरी मिर्ची (लंबी चिरी हुई)   6 मिर्च
ग्रीन चिल्ली सॉस1 teaspoon
टोमेटो केचप2 teaspoon
सोया सॉस2 teaspoon
कालिमिरी पाउडर¼  teaspoon
वाइट पीपर पाउडर ¼  teaspoon
कॉर्न फ्लौर1 tablespoon
पानी (कॉर्नफ्लोर घोलने के लिए)4 tablespoon

सजावट के लिए सामग्री

हरा प्याज़ (बारीक कटा हुआ) 2 tablespoon
धनिया पत्ता (बारीक कटा हुआ)   1 tablespoon

व्यंजन की विधि चित्र सहित (प्रिपरेशन मेथड)

मुर्गी के मांस को मैरिनेट करने की विधि

Chilli chicken Recipe Step 1
  • एक बर्तन में मुर्गी के टुकड़ों पर अदरक लहसुन पेस्ट, कालिमिरी पाउडर, व्हाइट पिपर पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, स्वादानुसार नमक लगा  दें।
  • अब सोया सॉस डालकर मिला दें। बर्तन को एक ढक्कन से ढक दें।
  • मांस के टुकड़ों को दस मिनट मैरिनेट होने के लिए रखें। फ्रिज उपलब्ध रहने पर फ्रिज के अंदर रखें अथवा साधारण स्थान पर रखें।

घोल (बैटर) बनाकर मांस पर लेप (कोटिंग) लगाने की विधि

Chilli chicken Recipe Step 2
  • एक कटोरे में मैदा, कॉर्न फ्लौर, खाने का सोडा और स्वादानुसार नमक डालकर मिला दें।
  • एक अंडा डालें और अच्छी तरह से फेंटकर गाढ़ा मिश्रण तैयार करें।
  • मांस के टुकड़ों को मिश्रण में डालकर अच्छी तरह से लपेटें।

मांस को तलने की विधि

Chilli chicken Recipe Step 3
  • मध्यम आंच पर एक फ्राइंग पैन पे तेल गरम कर लें।
  • लेप लगे हुए मांस के टुकड़ों को सुवर्ण भूरा होने तक तलें।
  • मांस के टुकड़े तल जाने पर अत्यधिक तेल को झड़ाकर अलग तश्तरी पर रखें।

व्यंजन पकाने का अंतिम चरण

Chilli chicken Recipe Step 4
  • मध्यम आंच पर फ्राइंग पैन में तेल डालकर गरम करें।
  • अदरक लहसुन पेस्ट, कटा हुआ लहसुन डालकर हल्का भुने (सौते करें)।
  • कटी हुई शिमला मिर्च ,प्याज़ डालकर करछुल से कुछ देर चला दें। अधिक न तलें।
  • कालिमिरी पाउडर, वाइट पीपर पाउडर मिला दें। 
  • सब सॉस डालकर मिला दें। करछुल से कुछ देर चला दें। आंच को धीमी रखें।
Chilli chicken Recipe Step 5
  • कटी हुई मिर्च डालें।
  • करछुल से सब्ज़ियों को चला दें।
  • कॉर्नफ्लोर के घोल को फ्राइंग पैन में डालें।
  • करछुल से मिश्रण को चलाकर अच्छी तरह से मिला दें। मिश्रण को चिपचिपा, गाढ़ा और मुलायम करें।
Chilli chicken Recipe Step 6
  • अब तले हुए मांस के टुकड़ों को मिश्रण में डालें।
  • सब्ज़ी एवं सॉस के मिश्रण में मांस के टुकड़ों को करछुल से कुछ देर चला दें। धीमी आंच पर तीन मिनट तक पकाएं।
  • व्यंजन के स्वाद को परखें। स्वाद तीखा चटपटा होना चाहिए।
  • आवश्यकता होने पर स्वाद को संतुलित करें। 
  • व्यंजन तैयार है। आंच को बंद करें।

सजाने की विधि

  • व्यंजन के ऊपर से बारीक कटा हुआ हरा प्याज़, धनिया पत्ता छिड़क दें।

परोसने की विधि

टिप्स:

  • ताज़ी मुर्गी के मांस को फ्रिज में कम से कम एक दिन रख कर उपयोग करने से परिणाम नरम होता है।
  • यह व्यंजन को तैयार करने के लिए मुर्गी के टांग का मांस उपयोग करने से परिणाम अधिक नरम होगा। मुर्गी के छाती का मांस पकने पर भी थोड़ा रेसेदार रहता है इसलिए इस बात का ध्यान रखें। यह एक सामान्य स्थिति है।
  • यह व्यंजन को बनाने के लिए मांस को हमेशा  एक उंगली जितना लंबे आकार में काट लें।
  • मांस को तलते समय आंच को मध्यम या धीमी रखें। तेल को अधिक धुएंदार एवं गर्म न करें अन्यथा मांस को तलने के बाद परिणाम बहुत सख्त परतवाला होने की संभावना है।
  • सॉस में नमक रहता है। पकाते समय अलग से नमक मिलाते वक्त इस बात का ध्यान रखें।
  • कॉर्नफ्लोर को हमेशा ठंडे पानी में ही घोलें उसके बाद ही ग्रेवी या रसा में मिलायें।

FAQ

1.क्या चिली चिकन स्वस्थ है?

Ans :- घर में बनाया हुआ भोजन हमेशा स्वस्थ होता है। एक बात का ध्यान हमेशा रखना है कि कोई भी व्यंजन का सेवन नियंत्रित एवं नियमित मात्रा से अत्यधिक नहीं करनी चाहिए। यह व्यंजन में सॉस का उपयोग होता है जिसमे नमक रहता है। इसलिए नमक से परहेज करने वाले व्यक्तियों को सेवन से पहले यह बात का ध्यान रखना है।

2.चिली चिकन का आविष्कार किस देश ने किया था?

Ans :- कहा जाता है कि इसका आविष्कार 1975 में नेल्सन वांग ने किया था; वांग ने अपनी आविष्कार प्रक्रिया को एक भारतीय व्यंजन के मूल अवयवों से शुरू होने के रूप में वर्णित किया, अर्थात् कटा हुआ लहसुन, अदरक, और हरी मिर्च, लेकिन इसके बाद विभिन्न भारतीय मसाला जोड़ने के बजाय सोया सॉस, कॉर्नफ्लोर चिकन में मिला दिया गया।

3.क्या वजन घटाने के लिए चिली चिकन अच्छा है?

Ans :- यह व्यंजन की प्रधान सामग्री मुर्गी का मांस है। मुर्गी के मांस लीन मीट है जिसमे फैट की मात्रा न के बराबर है। प्रोटीन प्राप्त करने के लिए यह व्यंजन एक उत्तम स्रोत है। ताज़ी सब्ज़ियाँ भी पुष्टि प्रदान करने में सक्षम है। साधारणतः प्रोटीन खाद्य पाचन तंत्र को बढ़ावा देकर फैट शरीर के अंदर मौजूद बसा को गलाने में मदद करता है।

परन्तु सॉस में नमक रहता है और अधिक नमक शरीर में जाने पर शरीर में अतिरिक्त पानी के स्तर को बढ़ाने लगता है जिसे वाटर रिटेंशन कहा जाता है। तो यह बात का ध्यान रखना है।

घर में सेंधा नमक या नमक रहित सॉस तैयार कर के यह व्यंजन का सेवन करने से लाभकारी होगा।

4.वजन घटाने के लिए किस प्रकार का चिकन सबसे अच्छा है?

Ans :- चिकन ब्रेस्ट
अगर आप वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो चिकन ब्रेस्ट आपके लिए बेस्ट है। यह चिकन का सबसे पतला हिस्सा है, जिसका मतलब है कि इसमें सबसे कम कैलोरी है पर सबसे ज्यादा प्रोटीन मौजूद है। 

5.क्या मैं रोज चिकन खा सकता हूं?

Ans :- साधारणतः हर दिन एक व्यक्ति को न्यूनतम 80 ग्राम की मात्रा में प्रोटीन के स्रोत वाले व्यंजन का सेवन करना चाहिए। इसलिए प्रतिदिन नियंत्रित मात्रा में चिकन खाई जा सकती है। 

6.चिकन मिर्च और चिकन मंचूरियन में क्या अंतर है?

Ans :- चिकन मिर्च या चिकन चिल्ली मुर्गी की हड्डी रहित मांस को लंबे उंगली के आकार में काटकर पकौड़ी की तरह तलकर चीनी सॉस की ग्रेवी में पकाकर तैयार किया जाता है। 

चिकन मंचूरियन में मुर्गी के हड्डि रहित मांस का खीमा उपयोग होता है। खीमा के छोटे छोटे मीट बॉल्स बनाकर तला जाता है। तले हुए  मीट बॉल्स को विभिन्न चीनी सॉस एवं सब्ज़ियों के संग पकाकर तैयार किया जाता है। 

7.आप चिकन को नरम और कोमल कैसे बनाते हैं?

Ans :- साधारण प्रक्रिया में चिकन के मांस को फ्रीज में 6 से 8 घण्टे तक रखने से मांस मुलायम हो जाता है।
दूसरी प्रक्रिया में मांस को पकाने से पहले निम्बू, मसाला, दही, तेल का लेप लगा कर कम से कम आधा घण्टे तक रखने से चिकन नरम और कोमल बन जाता है।

8.क्या नाश्ते में चिकन खाना हानिकारक है?

Ans :- नाश्ते में चिकन खाना लाभकारी है। प्रोटीन के लिए यह एक उत्तम स्रोत है।

9.क्या आप उबला हुआ चिकन खा सकते हैं?

Ans :- उबले हुए चिकन का सेवन करना शरीर के लिए लाभकारी है। प्रोटीन के लिए यह एक उत्तम स्रोत है जिसमे, तेल अथवा मक्खन की अधिकता नहीं होती।

पसंद अनुसार सब्ज़ी, काली मिर्च, सफेद मिर्च, निम्बू का रस, धनिया पत्ता, लहसुन, स्वादानुसार नमक आदि के संग पके हुए चिकन में एक अद्भुत उत्कृष्ट स्वाद स्वत ही हो जाता है।

Submit your review
1
2
3
4
5
Submit
     
Cancel

Create your own review
स्वादिष्ट रेसिपी
Average rating:  
 0 reviews

Leave a Reply

close
Scroll to Top